हमको अपनी अच्छाई पर “ग़ुरूर” नहीं
करना चाहिये…!!

क्यूँकि किसी की कहानी में शायद
हम भी “ग़लत” हैं….!!!🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here